कहानी लेखन पुरस्कार आयोजन -35- कविता वर्मा की कहानी

Comments

  1. कहानी के भाव दिल को छू गये...कभी कभी हम किसी व्यक्ति को कितना गलत समझ लेते हैं...कहानी के पात्रों का बहुत सुन्दर चित्रण...अंत तक बांधे रखने में समर्थ रोचक कहानी...बधाई

    ReplyDelete
    Replies
    1. bahut bahut dhanyavad sharmaji..aapka ye protsahan mujhe prerit karta rahega.

      Delete
  2. बधाई बधाई बधाई बधाई बधाई बधाई बधाई बधाई बधाई बधाई बधाई !!!!!

    ReplyDelete
  3. बहुत बहुत बधाई।

    ईद की दिली मुबारकबाद।
    ............
    हर अदा पर निसार हो जाएँ...

    ReplyDelete
  4. thank you arshiya..id ki bahut bahut mubarakbad..

    ReplyDelete
  5. रचनाकार पर ये कहानी पढी थी. बहुत सुंदर..
    प्रतियोगिता में कामयाबी के लिए शुभकामनाएं

    ReplyDelete

Post a Comment

आपकी टिप्पणियाँ हमारा उत्साह बढाती है।
सार्थक टिप्पणियों का सदा स्वागत रहेगा॥

Popular posts from this blog

युवा पीढी के बारे में एक विचार

कौन कहता है आंदोलन सफल नहीं होते ?

अब हमारी बारी